News

Mare Mat Maiya

मारे मत मइया

मारे मत मइया, वचन भरवाय लै

वचन भरवाय लै, सौगन्ध खवाय लै।

गंगा की खवाय लै, चाहे जमुना की खवाय लै

क्षीर सागर में मइया ठाड़ो करवाय लै ॥ मारे मत मइया ——

गइया की खवाय लै, चाहे बछड़ा की खवाय लै

नन्द बाबा के आगे ठाड़ो करवाय लै ॥ मारे मत मइया ——

गोपिन की खवाय लै, चाहे ग्वालन की खवाय लै

दाऊ भइया के आगे कान पकराय लै ॥ मारे मत मइया ——

बंसी की खवाय लै, चाहे कामर की खवाय लै

मेरे अपने सिर पे हाथ धर के कहवाय लै ॥ मारे मत मइया ——

Share it on

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shree Ji Barsana Mandal Trust (SJBMT)

counter